अंक ज्योतिष के अनुसार 1 अंक का महत्तव

अंक 1 एक व्यावहारिक स्तर की नीचे की पंक्ति के मध्य भाग में स्थित है| अंक एक व्यक्ति की दूसरों के साथ व्यवहार और उसकी स्वाभाविक प्रतिक्रिया के विषय में जन्मतिथि में महत्वपूर्ण सूत्र प्रस्तुत करता है|


अंक एक वाले जातक अपनी अंतस्थ भावनाओं को कठिनता से व्यक्त कर पाते हैं| अन्य क्षेत्रों में भले ही अच्छा हो लेकिन अपने अंतस्थ भावनाओं को व्यक्त नहीं कर पार्टी|


दूसरे व्यक्तियों के आचरण को समझने में भी उन्हें कठिनाई होती है|
उदाहरण के लिए:
20 फरवरी 1982 को जन्मे जातक सार्वजनिक रूप से तो अपने मन की बातें भली भांति व्यक्त कर पाएगा| परंतु अपने हृदय की खुल के बातें अपने प्रिय जनों के सामने नहीं रख पाएगा| उसे बोलने में कठिनता का अनुभव होगा| खुलकर बोलने में कठिनाई महसूस करेगा|
जन्मतिथि में अंक एक की उपस्थिति दो बार:
लक्ष्मी यंत्र तालिका में अंक एक के उपस्थित दो बार आने वाले जातक अपने आप को सहजता से व्यक्त कर सकते हैं| वे जीवन के प्रति सकारात्मक सोच रखते हैं| और परिस्थितियों का सही अध्ययन कर पाने में सक्षम होते हैं| और दूसरा के विचारों को भी भली भांति सहजता से समझ पाते हैं| चार्ट में यह अंक एक की सर्वोत्तम संख्या मानी जाती है| धरण के लिए 29 में 1971 को पैदा हुए जातक के चार्ट में अंक एक दो बार है|
जन्मतिथि में अंक एक की उपस्थित तीन बार:
इस तरह के जातक जिनकी जन्मतिथि में तीन बार एक की उपस्थिति होती है वह दो प्रकार के होते हैं|
एक अधिक बोलने वाले जातक जो लगातार बोलते रहते हैं|
दूसरे कम बोलने वाले जातक|
कुछ जातक तो ऐसे होते हैं जो यह दोनों प्रकार के ही बातचीत करने में सक्षम होते हैं|
जिन मनुष्यों के जन्म तिथि में एक अंक तीन बार आता है वह प्रसंचित और बहिर्मुखी होते हैं|
ऐसे लोगों का प्रसिद्ध व्यक्तियों के साथ भी संपर्क होता है| जैसे 14 अक्टूबर 1940 को जन्मे लोगों के चार्ट में अंक 1 3 बार होगा|
जन्मतिथि में अंक एक की उपस्थिति चार बार:
जिन लोगों की जन्म तिथि में अंक एक चार बार आता है तो वह स्वयं को व्यक्त करने में कठिनता महसूस करते हैं| ऐसे व्यक्ति बहुत ही कोमल हृदय के होते हैं और दूसरों का बहुत ही अच्छे से ध्यान रखते हैं| बहुत से लोग बहुत से लोगों को उनके विषय में मिथ्यबोध होता है| तनाव से दूर होने में भी इनको बहुत कठिनता होती है|
जन्मतिथि में अंक एक के उपस्थिति 5 6 या 7 बार:
जिन जातकों के जन्म तिथि में अंक एक 56 या 7 बार आता है वह स्वयं को संयुक्त रूप से व्यक्त करने में कठिनता का अनुभव करते हैं| उनके विषय में प्राय दूसरों को झूठा बोध होता है| इसीलिए यह अपने चातुर्य का प्रयोग ऐसे क्षेत्रों में करते हैं जिनमें इन्हें कम परेशानी होती है| जैसे लेखन , चित्रकार नृत्य आदि|
ऐसे सहयोग वाले कुछ जातक तो खाने-पीने में भी हद करते हैं तथा नशे आदि आदतों में डूब जाते हैं| उदाहरण के तौर पर

19 नवंबर 1971 को जन्मे लोगों के चार्ट में पांच बार अंक 1 होगा|
ऊपर दिए हुए विवरण में मैंने आपको अंक ज्योतिष में मूलांक एक का मनुष्य के जीवन में महत्वता को समझने की कोशिश की है| आशा करती हूं आप सभी को यह पसंद आएगी’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top